SATURN IN HINDI | शनि ग्रह के बारे में रोचक तथ्य


Saturn in Hindi - शनि ग्रह के बारे में रोचकतथ्य |


saturn planet in hindi
saturn

हैलो दोस्तों हमारे ब्लॉग में आपका स्वागत है। हमारे ब्लॉग पर इसी तरह की अच्छी जानकारी दी जाएगी। दोस्तों इस आर्टिकल में जानेंगे saturnin hindi - शनि ग्रह के बारे में amazing rahyas की जानकारी।

Saturn planet in Hindi - शनि ग्रह के बारे में रोचक तथ्य

शनि ग्रह - सौरमण्डल का jupitar के बाद दुसरा सबसे बड़ा planet है | यह सूर्य से 6 ठा दुरी वाला ग्रह है और यह सूर्य से लगभग 143 करोड़ किलोमीटर दुर है ओर ये earth से लगभग 128 करोड़ किलोमीटर दूर है | | इसे रात को तारों की तरह नंगी आखों से देखा जा सकता है |

शनि ग्रह की Diameter earth से 9 गुणा जायदा है और इसकी आयतन (volume) earth से 95 गुणा बड़ा है | अगर earth की तुलना shani garah से करे तो शनि ग्रह में 760 पृथ्वी समां सकती है |

शनि ग्रह अपने एक्सिस पर एक दिन रात पूरा करने में 10 घंटे 34 मिनट में एक चक्कर पूरा करता है | हालांकि घूमने की गति घट बड़ जाती रहती है |

पृथवी के मुकाबले shani garah के एक साल पृथवी 29.457 साल के बराबर है | Saturn planet पर हर साल पृथ्वी की तरह मौसम बदलते रहते है | इस ग्रह में solar system के सबसे तेज हवाए चलती है जो की 500 m/s की रफ्तार से चलती है |

शनि ग्रह के चारों ओर Ring से बना है , जिसकी चौड़ाई 282 लाख किलोमीटर है और मोटाई के मामले में बहुत कम है | इन छल्लो को 14 भागों में बांटा गया है | लेकिन jupitar , Neptune , urenus से बड़ा आकार का रिंग है |शनि ग्रह के rings हम किसी भी छोटे टेलिस्कोप से देख सकते है।

saturn planet information in hindi - शनि ग्रह के बारे में

शनि ग्रह की density पृथवी से 8 गुना कम है अगर इसे पानी में रख दिया जाये तो ये तैरने लगेगा | हालाँकि ऐसा कभी नहीं हो सकता है | शनि ग्रह के गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी से 578 गुना अधिक शक्तिशाली है |गुरुत्वाकर्षण बल जुपिटर के सामान है। इसकी विषुवतीय गुरुत्वाकर्षण - 10.44 m/s squar है।

शनि ग्रह की Diameter earth से 9 गुणा जायदा है और इसकी (mass ) earth से 95 गुणा जायदा भारी है | अगर earth की तुलना shani garah से करे तो शनि ग्रह में 760 पृथ्वी समां सकती है |

शनि ग्रह normal तापमान -185 डिग्री सेल्सियस तक रहता है पर दक्षिणी ध्रुव (south pole) के पोलर वोर्टेक्स के कारण तापमान -122 तक चला जाता है जो कि शनि ग्रह के जगह मणि जाती है और इनकी core का तापमान 11700 डिग्री सेल्सियस है | ये सूर्य से मिलने वाली ऊर्जा को ढाई गुना जायदा स्पेस में रिफलेक्ट कर देता है |

अब तक शनि ग्रह पर 61 moon खोजे गए है , जिनमें 53 का नाम दिया गया है | जिनमें titon , dione , फोबे, Enceladus उपग्रह है तथा जिनमें टाइटन solar saystem के सबसे बड़े चन्द्रमा और बुध ग्रह से बड़े है | वहीं Enceladus शनि के सबसे छोटे उपग्रह है

टाइटन की खोज सन 1665 में कृशिचयन हाइजोन ने की | टाइटन एक मात्र ऐसा moon है जो पृथ्वी तरह मिलता जुलता है इसका वायुमंडल पृथ्वी की तरह है |

शनि ग्रह को सन 1610 में पृथ्वी पृथ्वी गेलिलियो गैलीली ने टेलिस्कोप से देखा | गेलिलियो ने शनि ग्रह के अजीब आकर के rings देखकर कहा शनि ग्रह के दो कान है लेकिन बाद में पता चला अजीब आकर से दिखने बाला rings है |

इसकी rings बहुत बड़ी है लेकिन अगर इसका एक planet बनाया जाया तो इसकी व्यास लगभग 200 km तक होगा | शनि ग्रह का रिंग्स अस्तित्व में कैसे आया ये आज तक एक rahyas है।


saturn planet in hindi
saturn

shani garah के बारे में


शनि ग्रह और जुपिटर ग्रह पुरा सौरमंडल ग्रह के 92 प्रतिशत mass (द्रव्यमान) है | यह ग्रह चपटे आकार होने के कारण इसकी भूमध्यरेखा उभरा हुआ है |

शनि ग्रह पर एक ऐसा उपग्रह है जो अपनी कक्षा में विपरीत दिशा में घुरता है जिसका नाम फोबो है | shani garah अपनी परिक्रमा 9.69 km/s की रफ़्तार से घूमता है |

शनि ग्रह एक ऐसा जिसे प्राचीन कल से जाना जाता है | शनि का नाम रोमन के देवता के नाम पर रखा गया | हिन्दू ज्योतिष के अनुसार shani को नव ग्रह के रूप मन दर्जा दिया है, इन्हें हिन्दू देव के शनि देव के नाम से जाना जाता है |

इस ग्रह के atmosphere में हाइड्रोजन 96% हीलियम 3% कुछ मात्रा में अमोनिया, मीथेन और पानी मौजूद है। लेकिन हीलियम element को पूरी तरह से पता नहीं चला है पर इनका भार earth के भार से 30 गुना जायदा है |

शनि ग्रह के ऊपरी परत अमोनिया क्रिस्टल और निचली परत में अमोनिया हाइड्रोसल्फाइड और के बादल पाए जाते है।

सन 1990 में हवल टेलिस्कोप ने एक बड़ा सफ़ेद बादल शनि ग्रह पर देखा गया रिसर्च के अनुसार यह एक बड़ा तूफान था जो हर 30 साल में आता है पिछले कुछ साल में 1876, 1903, 1933 और 1960 में अगला तूफान 2020 में आने वाला है |

शनि ग्रह पर अब तक चार mission भेजा जा चूका है

1.पानियर 11 - सितम्बर 1979

2. वायज़र 1 - नवंबर 1980 शनि ग्रह होकर गुजरा था इन्होने rings और moon की तस्वीरें भेजी | वायजर ने अद्भुत जानकारी दी spocks जो शनि ग्रह के रिंग्स के ऊपर पाया जाता है।

3. वायज़र 2 - अगस्त 1981 शनि ग्रह से होकर ये भी गुजरा था | लेकिन तकनीकी खराबी के कुछ जायदा जानकारी नहीं दे पाए |

4. कैसिनी - अक्टूबर 1997 इन्होने शनि के orbit के आस पास की जानकारी दी | 2004 से 2008 कैसिनी ने कुल 8 moon की खोज की | कैसिनी के द्वारा चार बड़े चन्द्रमा खोज की - आऐपिटस, रिया, टेलिस, डिओस है।

नोट - अगर हमारे saturn planet की जानकारी अच्छी दी गयी है , दोस्तों जितना हमें पता था उतना हमने इसब्लॉग सैटर्न प्लेनेट के बारे में बताया।

इसे भी जरूर पढे - जुपिटर ग्रह के बारे में


SATURN IN HINDI | शनि ग्रह के बारे में रोचक तथ्य SATURN IN HINDI | शनि ग्रह के बारे में रोचक तथ्य Reviewed by Deepak Kumar on अक्तूबर 03, 2019 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.