रविवार की छुट्टी किसने घोषित की थी । कब और क्यों |sunday in hindi


रविवार की छुट्टी किसने घोषित की थी । कब और क्यों |sunday in hindi

हैलो दोस्तों इस आर्टिकल मे आपका स्वागत है, दोस्तों आज हम जानेंगे । रविवार को छुट्टी क्यों मनाया जाता है ?


sunday in hindi
sunday in hindi

हम लोग यही चाहते हैं कि संडे जल्दी कब आए ताकि छुट्टी मिल सके और हम लोग मस्ती कर सकें । वहींं मजदूर काम करने वाले लोग आराम एक दिन की छुट्टी मिल सकें।

लेकिन आखिर संडे के ही दिन छुट्टी क्यों?

आइए जानते हैं संडे के दिन छुट्टी के रूप में घोषित करने के क्या कारण थे।

जब भारत में ब्रिटिश शासन था जिसमें ब्रिटिश लोग शासन करते थे । तब मिल मजदूरों को 7 दिन तक काम करना पड़ता था उन्हें कोई भी छुट्टी नहीं मिलती थी।
ब्रिटिश लोग हर रविवार को छुट्टी मनाते थे, कोई ब्रिटिश से चर्च जाया करता था । क्योंकि वह लोग ईसाई धर्म मानते थे।

परंतु मिल मजदूरों के लिए ऐसी कोई परंपरा लागू नहीं था वह हर सातों दिन काम करना पड़ता था कि उसे छुट्टी नहीं दी जाती थी ।
इस बात से परेशान होकर उस समय श्री नारायण मेघाजी लोखंडे मिल मजदूरों के नेता थे । उन्होंने मजदूरों की स्थिति देखकर अंग्रेजों के सामने सप्ताहिक छुट्टी का प्रस्ताव रखा !
और कहा 6 दिनों तक काम करने के बाद सप्ताह में एक दिन छुट्टी मिलना चाहिए ताकि वे मजदूर लोग आराम कर सके ।

लेकिन प्रस्ताव को ब्रिटिश अधिकारियों ने अस्वीकार कर दिया पर मेघाजी लोखंडे ने हार नहीं मानी और अपना संघर्ष जारी रखा !

अंततः 7 सालों लंबे संघर्ष के बाद 10 जून 1843 को ब्रिटिश सरकार ने आखिरकार रविवार को छुट्टी का दिन घोषित कर दिया। यह दिन मजदूरों के लिए खुशी का दिन था ।

हैरानी की बात यह है कि भारत ने कभी भी इसके बारे में कोई आदेश जारी नहीं किए । अंतरराष्ट्रीय संस्थान के अनुसार रविवार का दिन सप्ताह का आखिरी दिन होता है ।

1844 में अंग्रेजों के गवर्नर जनरल ने स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए भी रविवार का दिन अवकाश रखने का प्रावधान किया । इसका कारण यह था कि बच्चे रविवार के दिन कुछ रचनात्मक कार्य कर सकें और अपने आप को आगे बढ़ा सके। तब से स्कूलों ऑफिस अदर वाइज हर जगह रविवार को छुट्टी लागू कर दिया गया था।

हिंदू कैलेंडर के अनुसार सप्ताह की शुरुआत रविवार से होती है, यह दिन सूर्य देवता का दिन होता है ।
हिंदू रीति रिवाज के अनुसार इस दिन सूर्य भगवान सहित सभी देवी देवताओं का पूजा का विधान किया जाता है इसलिए भी रविवार को छुट्टी का दिन रखा गया था ।

दोस्तो आज पूरी दुनिया में रविवार के दिन ही छुट्टी मनाया जाता है तो अगले बार रविवार आए तो खूब मजा कीजिए और मस्ती कीजिए ।

मेरी तरफ आपको नमस्कार 🙏

इसे भी जरूर पढ़ें-जुपिटर के बारे

Post a Comment

और नया पुराने